Shikayat Lyrics- Archana Gore | Gangubai Kathiawadi

Shikayat Lyrics in English and Hindi is latest Hindi Song Sung by Archana Gore From The “Gangubai Kathiawadi” Movie. features Alia Bhatt With Music is Given by Sanjay Leela Bhansali. While “ShikayatSong Lyrics are Written by A M Turaz and video is released by Saregama Music.

Shikayat Lyrics- Archana Gore |  Gangubai Kathiawadi

Shikayat Song Details

Song Title :Shikayat
Album/Movie:Gangubai Kathiawadi
Singer (S):Archana Gore
Lyrics (S) : A M Turaz
Music (S):Sanjay Leela Bhansali
Music Label (©):Zee Music Company

Shikayat Lyrics

[ Lyrics in English ]

Kisi ki yaad me
Shaamein guzarne ke liye
Kaleja chahiye khud ko
Marne ke liye

Ke ghaat maut ke
Har din utarna padta hai
Ye ishq dil me
Meri jaan utarne ke liye

Suna hai ke unko shikayat bahoot hai
Suna hai ke unko shikayat bahoot hai
Toh fir unko humse mohabbat bahoot hai

Suna hai ke woh tod dete hai dil to
Hamein tootne ki bhi aadat bahoot hai
Suna hai ke unko shikayat bahoot hai

Nazar bhaar ke woh dekhte bhi nahi hai
Hamare liye sochte bhi nahi hai
Nahi hai nahi sochte bhi nahi hai

Guzrate hai hum roz pehlon se unke
Magar woh humein rokte bhi nahi hai
Han han rokte bhi nahi hai
Han han rokte bhi nahi hai

Suna hai ke nafraat woh karte hai humse
Hume unki nafraat se rahat bahoot hai
Suna hai ke unko shikayat bahoot hai
Suna hai ke unko shikayat bahoot hai

Shehar chahe jeewan ka veeran kar do
Magar dekh kar humko hairan kar do
Bharam ajj bhi hai wafaon ka humko
Ijaazat hai jaana khataon ki tumko

Khata par bhi unki khafa hum nahi hai
Kisi hal me bhi judaa hum nahi hai
Nahi hai nahi haan juda hum nahi hai

Woh ilzaam jitne bhi chahe laga lein
Wafadaar hai bewafa hum nahi hai
Han han bewafa hum nahi hai
Han han bewafa hum nahi hai

Suna hai ke wo bhul jate hai mil kar
Humein unki yadon ki daulaat bahoot hai
Suna hai ke unko shikayaat bahoot hai

Suna hai suna hai shikayaat bahoot hai
Han ji han ji suna hai mohabbat bahoot hai
Han han han unki nafraat se rahat bahoot hai
Humein tuttne ki bhi aadat bahoot hai

Shikayat mohabbat haa raahat bahoot hai
Hamein unki yadon ki daulaat bahoot hai
Suna hai suna haa haa haa hamne suna hai
Suna, suna, suna hai

Suna hai ke unko shikayat bahoot hai

[ Lyrics in Hindi ]

किसी की याद में
शामें गुज़रने के लिए
कालेजा चाहिए खुद को
मार्ने के लिए

के घाट मौत के
हर दिन उतरना पड़ता है
ये इश्क दिल मे
मेरी जान उतरे के लिए

सुना है के उनको शिकायत बहुत है
सुना है के उनको शिकायत बहुत है
तो फिर उनको हम से मोहब्बत बहुत है

सुना है के वो तोड़ देते हैं दिल तो
हममें टूटने की भी आदत बहुत है
सुना है के उनको शिकायत बहुत है

नज़र भर के वो देखते भी नहीं हैं
हमारे लिए सोचते भी नहीं हैं
नहीं है नहीं सोचा भी नहीं है

गुजरात है हम रोज़ पेहलों से उनके
मगर वो हमें रोकता भी नहीं है
हां रुकते भी नहीं हैं
हां रुकते भी नहीं हैं

सुना है के नफ़रत वो करते हैं हम
हमें उनकी नफ़रत से राहत बहुत है
सुना है के उनको शिकायत बहुत है
सुना है के उनको शिकायत बहुत है

शहर चाहे जीवन का वीरान कर दो
मगर देख कर हमको हेयरन कर दो
भरम आज भी है वफाओं का हमको
इजाज़त है जाना खतरों की तुमको

खाता पर भी उनकी खफा हम नहीं है
किसी हाल में भी जुदा हम नहीं हैं
नहीं है नहीं है जोड़ा हम नहीं है

वो इल्जाम जितने भी चाहे लगाएंगे
वफ़ादार है बेवफ़ा हम नहीं है
हन हन बेवफा हम नहीं है
हन हन बेवफा हम नहीं है

सुना है के वो भूल जाते हैं मिल करे
हमें उनकी यादों की दौलत बहुत है
सुना है के उनको शिकायत बहुत है

सुना है सुना है शिकायत बहुत है
हान जी हन जी सुना है मोहब्बत बहुत है
हन हन उनकी नफ़रत से राहत बहुत है
हमें टूटने की भी आदत बहुत है

शिकायत मोहब्बत हा राहत बहुत है
हममें उनकी यादों की दौलत बहुत है
सुना है सुना हा हा हमने सुना है
सुना, सुना, सुना है

सुना है के उनको शिकायत बहुत है

Written By- A M Turaz

If Found Any Mistake in above lyrics?, Please let us know using contact form with correct lyrics!

Shikayat Music Video

Leave a Comment