Skip to content

Ishq Da Rag Lyrics- Stebin Ben|Asad Khan

Ishq Da Rag Lyrics

Ishq Da Rag Lyrics in English And Hindi is Latest Brand New Punjabi Song Sung By Stebin Ben. With Also Music Given By Asad Khan and ” Ishq Da Rag” Song Lyrics are Written By Raqueeb Alam. And This Video Has been Directed By Kamal Chandra.

Ishq Da Rag Lyrics

Ishq Da Rag Song Detail

Song Title Ishq Da Rag
Singer Stebin Ben
Lyrics Raqueeb Alam
Music Asad Khan
Label Zee Music Company

Ishq Da Rag Lyrics- Stebin Ben

[ Lyrics in English ]

Dil Mera Bewajah Gungunane Laga
Kahi Tere Dil Se Raza To Nahi
Kisi Baat Pe Muskurane Laga
Mohabbat Ka Koyi Nasha To Nahi

Teri Raton Main Din
Hain Nigaho Main Dil
Tu Magar Bekhabar
Beaasar Hain Kahi

Ishq Da Rog Hain Laggeya
Dil Nu Main Sambhal Ke Rakheya
Nain Shoneya Dil Thaggeya
Main Ki Kara, Main Ki Kara

Saari Saari Raat Main Laggeya
Tere Bin Din Bhi Na Katteya
Yaadan Tadpawe Teriya
Main Ki Kara, Main Ki Kara

Mere Jeevan Ke Dori Tere Hath Main
Jeena Maarna Bhi Tere Sath Main
Sunn Mahiya, Oo Mahiya

Naino Ki Rasme
Pyaar Ki Kasme
Sabb Tere Bass Main
Mera Hain Kya

Ruk Ruk Chaddte Rajj Nu
Tuk Tuk Tujhe Takkta Phiru
Khushiyo Se Ankhein
Kyun Parda Kare

Ye Nazar Ladd Gayi
Aur Aasar Kar Gayi
Dhadkane Jaise
Rukk Si Gayi Thi Meri

Ishq Da Rog Hain Laggeya
Dil Nu Main Sambhal Ke Rakheya
Nain Shoneya Dil Thaggeya
Main Ki Kara, Main Ki Kara

Saari Saari Raat Main Laggeya
Tere Bin Din Bhi Na Katteya
Yaadan Tadpawe Teriya
Main Ki Kara, Main Ki Kara

Meri Chahat Ka Koyi Toh Hisab De
Meri Baaton Ka Koyi Toh Jabab De
Sunn Mahiya, Oo Mahiya

Tez Hawawe Kaise Bachaye
Toofa Se Boojhte Dil Ka Diya

Khab Wo Sarmayi
Bhul Kyun Tu Gayi
Bekhabar Ye Dagar
Ye Safar Hain Nayi

Ishq Da Rog Hain Laggeya
Dil Nu Main Sambhal Ke Rakheya
Nain Shoneya Dil Thaggeya
Main Ki Kara, Main Ki Kara

Saari Saari Raat Main Laggeya
Tere Bin Din Bhi Na Katteya
Yaadan Tadpawe Teriya
Main Ki Kara, Main Ki Kara

Ishq Da Rog Hain Laggeya
Dil Nu Main Sambhal Ke Rakheya
Nain Shoneya Dil Thaggeya
Main Ki Kara, Main Ki Kara

[ Lyrics in Hindi ]

दिल मेरा बेवजाह गुनगुनाने लगा
कहीं तेरे दिल से रज़ा तो नहीं
किसी बात पे मुस्कान लगा
मोहब्बत का कोई नशा तो नहीं

तेरी रातों मैं दिन
हैं निगाहो मैं दिल
तू मगर बेखबरी
ब्यासर हैं कहीं

इश्क दा रोग हैं लगिया
दिल नु मैं संभल के रखे
नैन शोनेया दिल थग्गेया
मैं की करा, मैं की कर

सारी सारी रात मैं लग गया
तेरे बिन दिन भी ना कटेया
याद तड़पावे तेरिया
मैं की करा, मैं की कर

मेरे जीवन के डोरी तेरे हाथ मैं
जीना मरना भी तेरे साथ मैं
सुन महिया, ऊ महिया

नैनो की रस्मी
प्यार की कसम
सब तेरे बास मैं
मेरा है क्या

रुक रुक चड्डते रज्ज नु
टुक टुक तुझे तख्त फिरु
खुशी से आंखें
क्यूं परदा करे

ये नज़र लड्ड गायी
और असर कर गायी
धड़कने जैसे
रुक सी गई थी मेरी

इश्क दा रोग हैं लगिया
दिल नु मैं संभल के रखे
नैन शोनेया दिल थग्गेया
मैं की करा, मैं की कर

सारी सारी रात मैं लग गया
तेरे बिन दिन भी ना कटेया
याद तड़पावे तेरिया
मैं की करा, मैं की कर

मेरी चाहत का कोई तो हिसब दे
मेरी बातों का कोई तो जबब दे
सुन महिया, ऊ महिया

तेज़ हवा कैसे बचाये
तूफ़ा से बूझते दिल का दिया

खाब वो सरमायिक
भूल क्यूं तू गायी
बेखबर ये डागरी
ये सफर हैं नई

इश्क दा रोग हैं लगिया
दिल नु मैं संभल के रखे
नैन शोनेया दिल थग्गेया
मैं की करा, मैं की कर

सारी सारी रात मैं लग गया
तेरे बिन दिन भी ना कटेया
याद तड़पावे तेरिया
मैं की करा, मैं की कर

इश्क दा रोग हैं लगिया
दिल नु मैं संभल के रखे
नैन शोनेया दिल थग्गेया
मैं की करा, मैं की कर

Written By- Asad Khan

Ishq Da Rag Music Video

Leave a Reply

Your email address will not be published.